Hum Do Daku (1967)

“Us two thieves” would be the literal translation of this 1967 film “Hum Do Daku”. Had never heard of this film, nor do I think I have heard the songs ever… but one never knows. Sometimes the most obscure sounding film has the most beautiful songs. Oh, my word… here’s one that seems to be a riot of laughter… I can hear Johnny Walker’s voice (the video depicts a still image of Kishore Kumar). The music compositions promise Kishore Kumar and the playback is his too with the singing sisters Usha and Asha… of course, Mangeshkar, and Bhosle… but you do know that, I know… plus there’s a chorus. Terrible, eh, we can’t watch the video! 😉

An announcement that Johnny bhai jaan makes, following an applause.
Announcement:
“Oh ladies, and ladies, the program is bad (or did he say, ‘back’)!
“Cabaret in the Jungle” urf “Jungle mein Mangal”. (Can I hold back my laughter!)

Listen to the trumpets! 😉

हे! हसीनों नाज़नीनों
नज़र चुरा-चुरा के यूँ ना जाओ
की हम बुरे नहीं
ये दिल बुरा नहीं
अगर इस शक़्ल में
है कुछ कमी
हाय हाय डी हाय डी हाय
हाय हाय डी हाय डी हाय
ही ही डी ही ही
ही ही डी ही ही
होहो हो हो हो हो

I think garbled ways of
saying I love you in
multiple languages
some crazy coughing
by KK and chorus

हे!हे!
हे!हे!

हे!
दीवानों नौजवानों
न पीछे-पीछे आओ
लौट जाओ
सहर बुरा है
डगर बुरी है
यहां भी दिलजले
हैं कम नहीं

करेंगे हम तो वो जो अपना दिल कहेगा
फ़साना अपना भी (इ)न फ़सानो में रहेगा

ये जोश का जोश है तुम्हारा
मलोगे हाथ जिस घडी गिरेगा पारा

क़दम जो बढ़ चले ह:
तो समझो बढ़ चले ह:
नहीं रुकेंगे हमको लाख तुम मनाओ

हे! ह:
दीवानों नौजवानों
न पीछे-पीछे आओ
लौट जाओ
सहर बुरा है
डगर बुरी है
यहां भी दिलजले
हैं कम नहीं

Castanets!

हमारी ज़िन्दगी तुम्हारी ही भलाई
तुझीसे कहूँगी बात जो समझ में आई

भला तो जब है आप हम से मुंह न मोडें
हमारी आस को उम्मीद को न तोडें

कहाँ के सरफिरे ह:
कहाँ पे आ गिरे ह:
करें तो क्या करें कोई तो कुछ बताओ

हे! हसीनों नाज़नीनों
नज़र चुरा-चुरा के यूँ ना जाओ
की हम बुरे नहीं
ये दिल बुरा नहीं
अगर इस शक़्ल में
है कुछ कमी

This next one seems to have a life lesson embedded despite the humorous flavors shared between the two real-life siblings, Anoop Kumar and Kishore Kumar and you’ll be surprised with the chorus. This set of songs depicts Shailendra’s innate sense of humor… but he had to have written these a long time back. I wonder when. He passed away in 1966. But even at that time and for some time prior, he was stressed, which is a known fact. So how did he even think of these songs in his present frame of mind at that time? Okay… that’s something I should probe into some time.

दो दिनों की है कहानी
ज़िन्दगानी जी तो ले

Swallowing Sound 😉
हां
आग है तो आग को ही
कर के पानी पी तो ले
Swallowing Sound 😉
हां

दो दिनों की है कहानी
ज़िन्दगानी जी तो ले
आग है तो आग को ही
कर के पानी पी तो ले

Weird nasal sounds
वी वी वी वी
वा वा वा वा वा वा
वी वी वी वी
वा वा वा वा वा वा

Superb interlude with sitar strumming sounds

बीती सो बीती
जैसी भी बीती
आगे की सोच ज़रा

उड़ता हुआ ये
वक़्त है प्यारे
और है ये वक़्त बुरा

बिगड़ी बना ले
सब से निभा ले
दिल से किसी के
दिल को मिला ले
ताल तो आख़िर
ताल है लेकिन
हम भी है आफ़त
के परकाले

दो दिनों की है कहानी
ज़िन्दगानी जी तो ले
आग है तो आग को ही
कर के पानी पी तो ले

Weird nasal sounds
वी वी वी वी
वा वा वा वा वा वा
वी वी वी वी

Grunting sounds… 🙂

लंबा सफ़र है
मंज़िल है मुश्क़िल
फिर भी न हारेंगे हम
चाहे जिधर से निकलेंगे अपनी
राह संवारेंगे हम
बिगड़ी बना ले
सब से निभा ले
दिल से किसी के
दिल को मिला ले
ताल तो आख़िर
ताल है लेकिन
हम भी है आफ़त
के परकाले

दो दिनों की है कहानी
ज़िन्दगानी जी तो ले
आग है तो आग को ही
कर के पानी पी तो ले

ला लई लई
ला लई लई
ला लई लई ला
है
ला लई लई
ला लई लई
ला लई लई ला

घर हो के बाहर
जीवन का बोझा
मिल के उठाएंगे हम

आ आ आ आ

छोटे से दिल की
छोटी सी दुनिया
मिलके बसायेंगे हम

आ आ आ आ

बिगड़ी बना ले
है
सब से निभा ले
है
दिल से किसी के
है
दिल को मिला ले
है
ताल तो आख़िर
है
ताल है लेकिन
है
हम भी है आफ़त
के परकाले

दो दिनों की है कहानी
ज़िन्दगानी जी तो ले
आग है तो आग को ही
कर के पानी पी तो ले

Even the Almighty, it seems, beware! (Blasphemous?) The madcaps rule here. 🙂 🙂

अल्लाह ख़ैर
बाबा ख़ैर
रब्बा ख़ैर
मौला ख़ैर
राधेश्याम
सीताराम
सीताराम
जय सियाराम

अल्लाह ख़ैर
बाबा ख़ैर
रब्बा ख़ैर
मौला ख़ैर
राधेश्याम
सीताराम
सीताराम
जय सियाराम

अल्लाह अल्लाह
बन्दे बंदगी में अल्लाह

भगवन भगवन
तू ही जग का रखवाला

अल्लाह अल्लाह
बन्दे बंदगी में अल्लाह

भगवन भगवन
तू ही जग का रखवाला

आज यहां कल भोर में जाना

प्रभु चरणों में एक ठिकाना

आज यहां कल भोर में जाना

प्रभु चरणों में एक ठिकाना

लाखों वली का एक अली है
लाखों वली का
अल्लाह अल्लाह
संग सदा बजरंग बली है
संग सदा है
बजरंग बजरंग
लाखों वली का एक अली है
संग सदा बजरंग बली है

अल्लाह अल्लाह
बन्दे बंदगी में अल्लाह
भगवन भगवन
तू ही जग का रखवाला

अल्लाह अल्
सीताराम

क्या है भई तेरा मेरा
दुनिया है रैन बसेरा
क्या है भई तेरा मेरा
दुनिया है रैन बसेरा

नहीं सूझेगा तुझे
जिस दम होगा काल का फेरा
नहीं सूझेगा तुझे
जिस दम होगा काल का फेरा
ऊंचे का हुक़्म मिलेगा
हो ओ ओ ओ
ऊंचे का हुक़्म मिलेगा
उठ जाएगा डंडा तेरा

लाखों वली का एक अली है
लाखों वली का
अल्लाह अल्लाह

संग सदा बजरंग बली है
संग सदा है
बजरंग बजरंग

लाखों वली का एक अली है
संग सदा बजरंग बली है
अल्लाह अल्लाह
बन्दे बंदगी में अल्लाह
भगवन भगवन
तू ही जग का रखवाला

कर भला होगा भला
कहके दरवेश चला
कर भला होगा भला
कहके दरवेश चला

देगा जो एक यहां
देगा वो एक लाख वहां
देगा जो एक यहां
देगा वो एक लाख वहां
कल तू हो चाहे जहां
हो ओ ओ ओ
कल तू हो चाहे जहां
रहेगी नेकी यहां

लाखों वली का एक अली है
संग सदा बजरंग बली है
एक अली है
बजरंग बली है
बजरंग बली है
लाखों वली का एक अली है
संग सदा बजरंग बली है
अल्लाह अल्लाह
बन्दे बंदगी में अल्लाह
भगवन भगवन
तू ही जग का रखवाला
अल्लाह अल्लाह

While both brothers took credit for the previous two songs, this next one seems to be a Kishore da solo… All these songs are entirely new to my ears… so let’s see what we have! Well, I can hear Anoop Kumar too, with the chorus… what do you think? 🙂 Even the lyrics of the Title song would logically suggest that both are singing. Well, at least I tend to think so.

हम दो डाकू रंग रंगीले
रंग रंगीले छैल छबीले
दिल की दौलत जीतने निकले
अरे हम दो डाकू
वू हु हु
Woo hoo hoo… Yodelling! 😉
हम दो डाकू रंग रंगीले
रंग रंगीले छैल छबीले
दिल की दौलत जीतने निकले
अरे हम दो डाकू

हम दो डा …कू (typically KK)
हम दो डा …कू
हम दो डा…कू … हु

तोप से ना तलवार से हो
काम जो पल में प्यार से हो
फ़ौज ना थानेदार से हो
बात जो इक दिलदार से हो
प्यार करो
काम जो हो
प्यार से हो

हम दो डाकू रंग रंगीले
रंग रंगीले छैल छबीले
दिल की दौलत जीतने निकले
अरे हम दो डाकू

हम दो डा …कू
हम दो डा …कू
हम दो डा…कू … मैंबो मैंबो मैंबो

चम्बी लो चम्बी लो चम्बी लो चम्बी रोटी (Speaking Afrikaan!)
चम्बी लो चम्बी लो चम्बी लो चम्बी रोटी
चम्बी लो चम्बी लो चम्बी लो चम्बी रोटी (Speaking Afrikaan!)
चम्बी लो चम्बी लो चम्बी लो चम्बी रोटी

आग ना नफ़रत की भड़का
प्रीत का कोई गीत सुना
बन जा मीत और मीत बना
प्यार की सरगम को दोहरा
गीत सुना मीत बना गीत सुना

हम दो डाकू रंग रंगीले
रंग रंगीले छैल छबीले
दिल की दौलत जीतने निकले
अरे हम दो डाकू

हम दो डा …कू
हम दो डा …कू
हम दो डा…कू … हु हु

I wish the film video had been visible… perhaps a glimpse of Africa of the 1960s may have been visible.

Finally, here’s an absolutely bizarre song! I cannot transcribe it! 🙂 🙂 Listen, enjoy, and decipher… if you can post it as a comment, that would be awesome! Here’s the song for your listening pleasure. Was this never released, I wonder?
After all it says: “Pug Ghunghroo Bandh”

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s